प्याज को स्टॉक करने की सीमा तय की गई

प्याज की उपलब्धता सामान्य बनाए रखने के लिये कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के द्वारा अनुविभाग स्तर पर जांच दल गठित करने का आदेश जारी कर दिया है। ज्ञातव्य हो कि 31 नवम्बर तक भारत सरकार के द्वारा जारी निर्देशो के अनुपालन में प्याज के उचित मूल्य पर सम्यपूर्ण वितरण तथा उपलब्धता सुनिश्चित की जानी है जिले में प्याज व्यापारी के (स्टॉक सीमा तथा जमाखोरी पर निर्वधन) जिसके तहत आवश्यक वस्तु अधिनियम अंतर्गत जिले के समस्त प्याज के थोक एवं फुटकर व्यापारियों की स्टॉक सीमा तीस नवम्बर तक के लिए तय की गई है। थोक व्यापारी पचास मैट्रिक टन एवं फुटकर व्यापारी दस मैट्रिक टन स्टॉक सीमा में रख सकेंगे।

प्रत्येक थोक व्यापारी अथवा कमीशन अभिकर्ता जिसके द्वारा अनुसूची एक में वर्णित प्याज क्रय-विक्रय के लिए संग्रहण किया जाता है वह क्रय विक्रय एवं संग्रहण के सुसंगत जानकारी अनुसूची दो के नियत प्रारूप में दैनिक स्टाक पंजी, क्रय की रसीदे, बीजक एवं मंडी विक्रय के पक्के बिल सम्मिलित रखेगा और निरीक्षण के समय प्रस्तुत करेगा।
प्रत्येक व्यापारी अपने कारोबार के प्रवेश द्वार पर विक्रय के लिए रखी गई प्याज की मूलसूची एवं स्टॉक का बोर्ड देवनागरी लिपि में सुपाठ्य रूप से लिखी हुई प्रदर्शित करेगा।
प्रत्येक थोक व्यापारी तथा उसका कमीशन अभिकर्ता विहित माह की 15 तारीख को समाप्त होने वाले पाक्षिक की उसी माह की बीस तारीख तक तथा माह के अंत में समाप्त होने वाले पक्ष की आगामी माह की पांच तारीख तक निर्धारित प्रारूप में पाक्षिक विवरणी प्रस्तुत करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *