बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा जरूरी है- डॉ प्रभुराम चौधरी

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने जिले के ग्राम पैमत में शासकीय प्राथमिक स्कूल का लोकार्पण किया तथा मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं और भविष्य की बुनियाद को मजबूत करने के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा आवश्यक है। बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल सके, इसके लिए प्रदेश में योजनाबद्ध तरीके से काम किया जा रहा है। 
    स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि जब से मैंने स्कूल शिक्षा विभाग का प्रभार संभाला है मेरा यही प्रयास है कि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले। बच्चों के भविष्य को उज्जवल बनाने में अभिभावक, शिक्षकों का महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसके लिए हमने सबसे पहले प्रदेश के सभी स्कूलों में पेरेंट-टीचर मीटिंग करवाने का निर्णय लिया और इसको लागू भी किया है। उन्होंने कहा कि स्कूलों में बच्चों के लिए शिक्षा के अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराने के साथ ही अतिरिक्त कक्षों, बाउन्ड्रीवाल, फर्नीचर, सहित अन्य आधारभूत सुविधाओं की आवश्यकतानुसार उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है।  
    स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि सरकारी स्कूलों में बच्चों को बेहतर से बेहतर शिक्षा मिल सके इसके लिए हम निरंतर काम भी कर रहे हैं। प्रदेश में पहली बार स्कूलों में बच्चों को समय पर साईकिले, किताबें वितरित की गई हैं ताकि बच्चों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए प्रदेश के प्राचार्यो, शिक्षकों के दल को दक्षिण कोरिया, दिल्ली तथा बेंगलोर भेजा और उन्होंने वहां की शिक्षा व्यवस्था का अध्ययन किया। उन्होंने अभिभावकों से कहा कि वे भी बच्चों की शिक्षा पर ध्यान दें। जब भी स्कूलों में पेरेंट्स-टीचर मीटिंग हो तो स्कूल अवश्य जाएं। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि प्रदेश में लगभग दो लाख शिक्षकों का संविलियन किया है जिससे उन्हें शासकीय सुविधाओं का लाभ मिलने लगा है। इसके साथ ही प्रदेश के इतिहास में पहली बार स्कूल शिक्षा विभाग में ऑनलाईन ट्रांसफर किए गए।
    स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार विकास और कल्याण के लिए हर स्तर पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों से फसल ऋण माफ करने का वादा किया था, जिसे हमने पूरा किया है। प्रदेश में अब तक लगभग 30 लाख 10 हजार किसानों का कर्जा माफ किया गया है। उन्होंने कहा कि किसानों से 10 हार्सपावर तक के बिजली बिल आधे करने की बात कही थी जिसे प्रदेश सरकार ने पूरा किया है। इसके साथ ही घरों में 100 यूनिट तक की बिजली खपत का बिल 100 रूपए आ रहा है। जिन लोगों के बिल रीडिंग से ज्यादा आ रहे थे, शिविर लगाकर उन्हें सुधारा गया। उन्होंने कहा कि पहले वृद्धावस्था पेंशन 300 रूपए थी जिसे बढ़ाकर 600 रूपए कर दिया गया है। युवा स्वाभिमान योजना के माध्यम से युवाओं का कौशल उन्नयन कर उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण देने का काम प्रदेश सरकार ने किया है। कार्यक्रम में सांची जनपद अध्यक्ष श्री एस मुनियन तथा सरपंच श्री जगदीश चौधरी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, एसपी श्रीमती मोनिका शुक्ला, सीईओ जिला पंचायत श्री अवि प्रसाद तथा श्री बृजेश चतुर्वेदी भी उपस्थित थे।

मध्यान्ह भोजन में शामिल हुए स्कूल शिक्षा मंत्री 

    स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर शासकीय स्कूल पैमत में आयोजित मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी, सांची जनपद अध्यक्ष श्री एस मुनियन, सरपंच श्री जगदीश चौधरी, कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, एसपी श्रीमती मोनिका शुक्ला, सीईओ जिला पंचायत श्री अवि प्रसाद तथा श्री बृजेश चतुर्वेदी सहित गणमान्य नागरिकों ने बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *